Page 4 - The International Symposium on Novel ideas in Science and Ethics of Vaccines Against COVID-19 pandemic
P. 4

“हम महामारी की शुरुआत में हैं तर्ा वायरस का फनयांत्रण तभी होगा जब हर

                                                                                  कोई या तो सांक्रफमत हो या उसे टीका लगाया जाय”


                                                           प्रोफ े सर पीटर पाएट, निदेशक, लंदि स्क ू ल ऑफ हाइजीि एंड ट्रॉनपकल मेनडनसि






                                                              “टीक े  की उपलब्धता राष्ट्रवाद पर आधाररत है। जब टीक े  क े  फवतरण की


                                                                      बात आती है तो फनष्ट्पक्षता और न्याय कायम रहना चाफहए।”





                                                           प्रो ओले पीटर ओटससि, अध्यक्ष, क ै रोनलस्का इंस्टीट्यूट, स्वीडि







                                                              "वैक्सीन की समान और स्र्ायी उपलब्धता सुफनफित करने क े  फलए भारत


                                                                                                   दुफनया क े  सार् खडा है। "


                                                           प्रो क े  नवजयराघवि, मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार,भारत सरकार
   1   2   3   4   5   6   7   8   9